कर्म बड़ा या भाग्य

Do You have any Question
About my Book?
Then Talk to me Straight.
                                    
987 337 2222 , 9999 57 4757
 mail@kbyab.com




book cover
  • अब कई वर्षों तक KBYAB के साथ काम किया है। वे लगातार समय के साथ आगे बढ़ रहे हैं और हमें अपने साथ ले जा रहे हैं।

    people1

    Amit Talwar

  • कर्म बड़ा या भाग्य पुस्तक को पढ़ने के बाद मेरे जीवन में जो परिवर्तन आया | मैं उसे बता नहीं सकती |

    people1

    Kashish Thakur

भाग्य ही बड़ा है

कर्म बड़ा या भाग्य ?
भाग्य ही बड़ा है, पर कैसे ? यही सिद्ध किया गया है इस पुस्तक कर्म बड़ा या भाग्य में |
परंतु निर्णय आप पर ही छोड़ा गया है साथ ही आपको भी अपने तर्कों को सिद्ध करने का मौका दिया गया है|
अगर आप कर्म को बढ़ा सिद्ध कर सकें तो जीतिए ₹5,00,000/-
भाग्य ही बड़ा है इस विषय पर अपने तर्क रखे व लेख लिखें |
₹20,000/- प्रति लेख. (अधिकतम 10 व्यक्ति) |
1. जिंदगी वास्तव में क्या है?
2. जो होता है वह क्यों होता है?
3. हमारे दिमाग में विचार कहां से आते हैं?
4. भाग्य क्या है और यह कैसे काम करता है?
5. क्या हम अपना कोई भी कर्म पहले से लिखे भाग्य अनुसार ही करते हैं?
6. या कर्मों के आधार पर हमारा भाग्य निर्धारित होता है |

book
book

2 विकल्प! भौतिक या डिजिटल

  • Rs४००/-भौतिक
  • Rs४००/-on डिजिटल